Breaking Newsजोधपुर

बच्चों को बीच मे नहीं छुड़ाएं शिक्षा: कादरी

जोधपुर 3 फरवरी। बज्मे सूफिया की जानिब से औरतों का दीनी इस्लाही इज्तिमा शुक्रवार को रखा गया। इस अवसर पर मोहतरमा कनीज फातिमा ने समाज में हो रही कुरीतियों पर प्रकाश डाला और कहा कि आजकल समाज में शादियां महंगी हो रही है, जबकि इस्लाम धर्म में सस्ती शादी करने का संदेश दिया है, न कि कर्ज लेकर महंगी शादी करें। इसकी अगली कड़ी में मोहतरमा शजरा कादरी ने बच्चों को शिक्षा की अहमियत बताई और बताया कि अपने बच्चों को बीच में शिक्षा नही छुड़ाए, बल्कि पूरी शिक्षा दिलवाए, जिससे वो समाज में अपनी महत्ती भूमिका निभा सके। मोहतरमा नूर जहां चिश्ती ने समाज में तेजी से फैल रही कुरीति, नशा और बुरी संगत से बचने, मोबाइल के कम इस्तेमाल करने की, बच्चों को नसीहत की। इस अवसर पर नागौर से तशरीफ लाई मोहतरमा रिजवाना बानो ने देर रात तक जागने के नुकसान बताएं, इस्लाम धर्म में रात को जल्दी सोकर सुबह जल्दी उठना, जिससे दीन व दुनिया की कामयाबी है। इस प्रोग्राम का आयोजन बज्मे सूफिया कमेटी के सदस्य मौलाना साजिद हुसैन, मौलाना तौहीद मिस्बाही, मौलाना हयात कादरी, मौलाना अली हसन, मौलाना मुमताज, मौलाना मकबूल, कारी गुलाम गौस व वार्ड नम्बर 7 के पार्षद प्रतिनिधि सुल्तान खान की निगरानी में दीनी इस्लाही इज्तिमा मुकम्मल हुआ।

Related Articles

Back to top button