उदयपुर

रक्षाबंधन बहन ने भाई की कलाई से पहले कोबरा सांप को बांधा रक्षासूत्र

रक्षाबंधन का यह दिन भाई-बहन के प्रति स्नेह का प्रतीक होता है।

उदयपुर। रक्षा बंधन का दिन बहनों के लिए खास होता है। इसकी तैयारियां वह पहले से ही करना शुरू कर देती है, क्योंकि रक्षा बंधन का यह दिन भाई-बहन के प्रति स्नेह का प्रतीक होता है। यह त्यौहार भाई बहन के जुड़ाव को मजबूत भी बनाता है। लेकिन क्या आपने कभी देखा है कि रक्षा बंधन के दिन किसी बहन ने भाई की कलाई पर रेशम का धागा बांधने से पहले नाग देवता के आगे राखी रखकर उससे अपनी सुरक्षा व देखभाल का वचन लिया।

ऐसा एक वाकिया उदयपुर में रक्षा बंधन के दिन उस समय देखने को मिला, जब एक बहन अपने भाई की कलाई पर राखी बांधने की तैयारी कर रही थी और पूजा की थाली में कोबरा सांप (नाग) आकर बैठ गया। पूजा की थाली में फन फैलाकर बैठे कोबरा सांप को देख यह बहन डरी सहमी नहीं, बल्कि पहले नाग देवता की पूजा उतारी, उसको मिठाई का भोग लगाया। फिर अपने भाई चमनसिंह की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधा और रक्षा का वचन लिया।

https://sancharsarthi.com/
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सवीना निवासी सरोज शक्तावत रक्षा बंधन के दिन अपने भाई चमनसिंह के घर रक्षासूत्र बांधने पहुँची। वह भाई की कलाई पर राखी बांधने की तैयारी कर रही थी कि एक कोबरा सांप पूजा की थाली में आकर बैठ गया। एकबारगी तो पूजा की थाली में कोबरा सांप को देखकर सरोज सहम गई, लेकिन डरी नहीं। उसने बाकायदा उसकी पूजा उतारी, उसके सामने रक्षा सूत्र रखा और मिठाई रखकर नाग देवता से अपनी रक्षा का वचन लिया। इसके बाद भाई चमनसिंह के हाथ की कलाई राखी बांधी।

Back to top button