Technology

पेट्रोल-डीजल को लेकर ट्विटर पर घिरी मोदी सरकार, जानिए लोगों ने क्या कहा

नई दिल्ली (टेक डेस्क)। पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम पर चल रही लड़ाई अब सड़क से उठकर सोशल मीडिया तक पहुंच गई है। दरअसल, BJP ने ट्विटर पर पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम का कारण समझाने की कोशिश की है। इसके लिए BJP ने एक इंफोग्राफिक पोस्ट किया है जिसमें बताया गया है कि अगर पेट्रोल-डीजल के दामों के आधार पर आंकड़ों पर ध्यान दिया जाए तो NDA सरकार ने पिछली UPA सरकार से बेहतर काम किया है।

हालांकि, ट्विटर यूजर्स ने इस ट्वीट पर BJP को ट्रोल किया। सिर्फ आम जनता ही नहीं बल्कि कांग्रेस ने भी BJP को इस मुद्दे को लेकर ट्रोल किया है।कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा है कि जब आपको यह पता नहीं होता कि 343 फीसद बढ़ा हुए टैक्स कैसे छुपाना है तो हम भी इसे रिट्वीट करने से खुद को रोक नहीं पाए।कांग्रेस के ट्वीट के मुताबिक, 16 मई 2009 से लेकर 16 मई 2014 तक पेट्रोल की कीमत 40.62 रुपये से बढ़कर 71.41 रुपये तक पहुंच गई थी। इसी अवधि में क्रूड ऑयल की कीमत 84 फीसद बढ़ गई थी। वहीं, 16 मई 2014 से लेकर 10 सितंबर 2018 तक क्रूड ऑयल की कीमत 34 फीसद घट गई।

फिर हुई पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी:

मंगलवार को दिल्ली में पेट्रोल और डीजल 14 पैसे महंगा हुआ है। इसके बाद पेट्रोल 80.87 पैसे और डीजल 72.97 पैसे प्रति लीटर हो गया है। वहीं, मुंबई में पेट्रोल 88 रुपये 26 पैसे और डीजल 77 रुपये 47 पैसे प्रति लीटर रहा है। जानकारी के लिए बता दें कि महाराष्ट्र के परभाणी में पेट्रोल की कीमतें 90 रुपये प्रति लीटर के पार हो गई है।

चेन्नई में पेट्रोल 84.05 रुपये और डीजल 77.13 रुपये प्रति लीटर का भाव है। वहीं कोलकता की बता करें तो पेट्रोल 83.75 रुपये और डीजल 75.82 रुपये प्रति लीटर के स्तर पर है। कर की कम दरों से अन्य मेट्रो शहरों की तुलना में दिल्ली में पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत सबसे कम है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button