Breaking Newsजोधपुर

पश्चिमी राजस्थान में कैंसर के इलाज की नये युग की शुरूआत

जीत अस्पताल का उद्घाटन रविवार 5 मार्च को

जोधपुर। पश्चिमी राजस्थान और मरुधरा के सात जिलों की डेढ़ करोड़ जनता आज के समय की सबसे तेज फैलती कैंसर की बीमारी के ईलाज से महरूम है। इतनी बड़ी जनसंख्या के लिये केवल दो पेटसीटी, दो रेडियेशन मशीन एवं दो ब्रेकी थैरेपी मशीन उपलब्ध हैं जबकि केवल जयपुर शहर में 12 पेटसीटी, 16 रेडियेशन मशीन एवं 6 ब्रेकी थैरेपी मशीन उपलब्ध हैं।
कैंसर के ईलाज की इस कमी को पूरा करने का जिम्मा अरूण शांति एज्यूकेशन ट्रस्ट द्वारा संचालित जीत अस्पताल एवं कैंसर रिसर्च सेंटर ने उठाया हैं। इस सेंटर में प्रथम चरण में पेटसीटी एवं रेडियेशन मशीन लगायी जा चुकी है। वहीं द्वितीय चरण में ब्रेकी थैरेपी और हाई एनर्जी रेडियेशन मशीन लगाने के लिये भवन एवं आवश्यक संरचना तैयार की जा चुकी हैं। जोधपुर शहर के मोगरा में स्थित जीत अस्पताल सभी गांवों, कस्बों एवं शहरों तक अपनी सुविधाएं पहुँचाने के लिये चिरंजीवी योजना के तहत निशुल्क उपचार करेगा एवं बाहर से आने वाले मरीजों के लिए रियायती दरों पर धर्मशाला एवं भोजनशाला की व्यवस्था उपलब्ध करवायेगा।
ज्ञात हो की कीमोथैरेपी एवं कैंसर सर्जरी की सुविधाएं भी यहां पर अनुभवी विशेषज्ञों द्वारा उपलब्ध करवाई जा रही हैं। इस अस्पताल में कैंसर के अलावा सभी सुपर स्पेश्यलिटी विभागों में आईपीडी एवं ओपीडी सुविधायें उपलब्ध है। इसमें 5 मोड्यूलर ओपरेशन थियेटर, कैथ लैब, सीटी मशीन, आईसीयू इमरजेंसी सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध हैं।
अरूण शांति एज्यूकेशन ट्रस्ट के मैनेजिंग ट्रस्टी शशिकांत सिंघी ने बताया कि इस प्रोजेक्ट के लिये जोधपुर विकास प्राधिकरण एवं यूडीएच विभाग की अनुमति के अलावा पर्यावरण एवं प्रदुषण सम्बन्धी अनापत्ति भी ली गयी है। इसके साथ ही ऐईआरबी, पीसीपीएनडीटी, फायर, क्लिनिकल इस्टेबलिसमेंट एक्ट एवं चिरंजीवी योजना के तहत भी मान्यता ली जा चुकी है। आरजीएचएस, ईएसआईसी, रेल्वे, सेना एवं अन्य कैशलेस सुविधाओं में भी अस्पताल के एमपेनलमेंट की प्रक्रिया जारी हैं। अभी तक इस प्रोजेक्ट में 153 करोड़ रूपये का खर्च आया है एवं द्वितीय चरण के लिये अतिरिक्त 200 करोड़ रूपये का प्रावधान रख गया हैं। ये प्रोजेक्ट इनवेस्ट राजस्थान के तहत लाया गया हैं।
अरूण शांति एज्यूकेशन ट्रस्ट के अध्यक्ष मयंक सिंघी ने कहा कि इस अस्पताल को पश्चिमी राजस्थान के बहुत बड़े चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं रिसर्च सेंटर के रूप में विकसित करने का सपना हैं। इसके साथ ही इस अस्पताल को आने वाले समय में दुर्लभ बीमारियों के ईलाज एवं ओर्गन ट्रांस्पलांट के केंद्र के रूप में स्थापित करना हैं। जोधपुर के प्रख्यात कैंसर विशेषज्ञ डॉ. विनय व्यास एवं रेडियेशन ओन्कोलोजिस्ट डॉ. चिराग सोनी के नेतृत्व में इस केन्द्र की शुरूआत की गयी हैं। आने वाले समय में अन्य ख्याति प्राप्त विशेषज्ञों की सेवाएं भी शुरू की जायेगी।
जीत अस्पताल का उद्घाटन जोधपुर के पूर्व नरेश महाराजा गजसिंह जी के आतिथ्य में रविवार 5 मार्च को किया जायेगा। वहीं सम्मानीय अतिथि के रूप में एचडीएफसी के हैल्थकेयर ग्रुप हैड राहुल शुक्ला एवं अरुण शांति एज्युकेशन ट्रस्ट के संस्थापक चैयरमैन डॉ. एस. एम. सेठ उपस्थित रहेंगे।

इनका कहना है
यह बहुत खुशी की बात है कि जीत अस्पताल विशेष रूप से कैंसर देखभाल के लिए अपनी सेवाएं सेवाएं शुरू कर रहा है, जिसकी हमारी क्षेत्र में बहुत आवश्यकता है। – डॉ. अरविन्द माथुर, वरिष्ठ फिजिशियन एवं पूर्व प्राचार्य एस.एन.एम.सी., जोधपुर

यह एक अच्छी शुरूआत है कि जोधपुर में शहरी एवं ग्राम वासियों के साथ साथ सम्पूर्ण राजस्थान वासियों के लिये जो कि कैंसर की बिमारी से लडऩे में पूर्ण रूप से सक्षम नहीं थे, उनके लिये कैंसर से जीत पाने के लिये जीत अस्पताल एवं कैंसर रिसर्च सेंटर लाया गया है। – डॉ. अनिल पुरोहित, निदेशक बी.एस.सी.आर.एफ. बोस्टन, यूएसए

Related Articles

Back to top button